Hukum Ka Ikka: Here's Why BJP Couldn't Sideline Nitish Kumar, Key Ministries Still With JD(U)

रोजी प्रकाशित केले 18 नोव्हेंबर, 2020
Bihar Portfolios: Despite winning almost half the seats as the BJP, the JD(U) still could not be sidelined as it still retains all key ministries. Here's how Nitish Kumar made the hard bargain.
Video: The Quint
Music: BMG
#BiharElection2020 #NitishKumar #JDU
Support The Quint's independent journalism. Become a member now: bit.ly/2KzaT9R
__________________
Check out The Quint for more news: www.thequint.com
The Quint in Hindi: hindi.thequint.com
For more videos, subscribe to our MRslow channel: bit.ly/2aIcith
You can also follow The Quint here:
Facebook: bit.ly/1RXYIg5
Twitter: bit.ly/1tjFuxI
Instagram: bit.ly/1Piyc18

टिप्पण्या

  • इस्तीफा इमानदार लोग देते हैं बेईमान और भ्रष्टाचारी कभी इस्तीफा नहीं देते उन्हें जबरदस्ती भगाना पड़ता है जैसे तेजस्वी यादव को सरकार से भगाया गया था

  • Dalle Bihar education minister resigned now.what will u say now dalle.Bjp never tolerates corruption.

  • Very true. Nitish Kumar cannot be taken granted by any party. He is Socialist, Secular person .

  • Ministry of illiterates and criminals

  • Same with maharashtra uddhav is made cm

  • Hoping same kind of analysis on Maharashtra if u r unbiased.

    • They are baised exactly like national media ..m

  • Nice Analysis..👍🏼👍🏼

  • Yeh same tshirt mane delhi mein 150rs ki khareedi hai...

  • aimim aur congress ke muslim vote but gaye aur bjp ko faida hogya lol

  • समृद्धि चक्र: देश की जीडीपी सोने के अंडे की तरह है: और एक श्रमिक सोने के अंडे देने वाली मुर्गी समान: वह थोड़ा सा वेतन या दिहाड़ी लेता है और उसका श्रम देश की अर्थव्यवस्था का निर्माण शुरू कर देता है, और देश की जीडीपी बढ़ने लगती है। यहां, श्रमिक वर्ग में शारीरिक और मानसिक कार्यकर्ता दोनों शामिल हैं। वह खेतों में काम करता है, पशुपालन करता है, कारखाने या मिल में काम करता है, सड़क, रेल, हवाई या समुद्री परिवहन चलाता है, मानसिक कार्य करता है, शिक्षण कार्य करता है, चिकित्सा कार्य करता है, सरकारी या निजी कार्यालय में काम करता है। वह आर्थिक पिरामिड का आधार बनाता है, उसके काम करने पर ही राष्ट्र की जीडीपी बढ़ती है। समृद्धि चक्र: मुर्गी पालक: मुर्गी का पालन-पोषण करता है: मुर्गी सुनहरे अंडे देती है: मुर्गी पालक अमीर बन जाता है: वह मुर्गी का पालन पोषण कभी बन्द नही करेगा: मुर्गी का जितना अच्छा ख्याल रखा जायेगा: उतना ही बहुगुणा लाभ होगा। समृद्धि चक्र: आर्थिक समृद्धि आर्थिक पिरामिड के आधार से ऊपर की ओर चढ़ती है, जहां से वह आर्थिक पिरामिड के आधार पर वापिस उतर आती है। कार्ल मार्क्स। दुग्ध क्रांति: भारत, सदियों से एक कृषि प्रधान देश रहा है, और अब भी है। दुग्ध क्रांति से राज्य की सभी समस्याएं समाप्त होंगी। भाजपा का नारा: बेटी बचाओ, बेटी पढाओ। भाजपा का नारा: बेटी बचाओ, बेटी पढाओ। लेकिन बेटी जल गई। भाजपा का नारा: बेटी बचाओ, बेटी पढाओ। भाजपा का नारा: बेटी बचाओ, बेटी पढाओ। लेकिन बेटी जल गई। भाजपा का नारा: बेटी बचाओ, बेटी पढाओ। भाजपा का नारा: बेटी बचाओ, बेटी पढाओ। लेकिन बेटी जल गई। भाजपा का नारा: बेटी बचाओ, बेटी पढाओ। भाजपा का नारा: बेटी बचाओ, बेटी पढाओ। लेकिन बेटी जल गई। भाजपा का नारा: बेटी बचाओ, बेटी पढाओ। भाजपा

  • They will do anything just to retain power